L. Major Schemes and Sub-schemes of Jharkhand / झारखंड के प्रमुख योजना एवं उप योजनाएं | FREE GS2 Book Notes sample

Sarva Shiksha Abhiyan 

  • Sponsor – State and Central Government
  • Participation in the scheme amount – In the 15th Five-Year Plan, the share of the Central Government and the State Government was 75:25, but after that it became 50:50.
  • Scheme details – The aim of Sarva Shiksha Abhiyan is to make primary education accessible to all.

1. मध्याह्न भोजन योजना (MDM)

यह योजना 15 अगस्त, 1995 से शुरू की गई । यह योजना न्यूट्रीशनल सपोर्ट टु प्राइमरी एजुकेशन की संशोधित योजना है। यह केन्द्र प्रायोजित योजना है। सितम्बर, 2004 में प्राइमरी स्तर पर तथा 1 अक्टूबर, 2007 में इसे अपर प्राइमरी स्तर पर व्यापक रुप से लागू कर दिया गया। इस योजना के अन्तर्गत प्राइमरी स्कूल के बच्चों के लिए 450 कैलोरी एवं 12 ग्राम प्रोटीन तथा अपर प्राइमरी के बच्चों के लिए 700 कैलोरी एवं 20 ग्राम प्रोटीन की व्यवस्था है। इस योजना को अप्रैल 2008 से संपूर्ण देश के……..……

2. जल संवर्द्धन योजना 

राज्य के समस्याग्रस्त क्षेत्रों में पेय जल की आपूर्ति लाई गई. क्षमता के विकास आदि के समग्र दृष्टिकोण से वर्षा के जल को रोकने हेतु संरचना कराई गई. समुदायिक पेय जल आपूर्ति आदि को निधि ₹50 लाख प्रति विधायक जो शतप्रतिशत राज्य योजनान्र्तगत झारखंड सरकार द्वारा वहन की जाती है।

कार्य: इस योजना के अंतर्गत सिंचाई और पेय जल क्षमता का विकास किया जाता है. कार्यान्वयन -इस का कार्यान्वयन प्रखंड विकास पदाधिकारी करते हैं। संबंधित प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी/अभियनता का उत्तरदायित्व है कि वे प्रत्येक गांवों के लिए वार्ड यूजर्स ग्रुप का गठन कराते हैं . जिनके माध्यम से छोटी-छोटी योजनाओं का कार्यान्वयन किया जाता है. इसके अंतर्गत एक योजना की अधिकतम राशि ₹15 लाख निर्धारित है.

 लाभान्वित –इस योजना से संबंधित ग्राम/क्षेत्र के निवासी लाभान्वित होते हैं. 

चयन की प्रक्रिया: प्रत्येक जिला के द्वारा अपने सभी पंचायतों के लिए स्थानीय विधायकों की अनुशंसा प्राप्त कर अलग-अलग जल कार्य योजना तैयार किया जाता है. इस में जल संचयन,…………………