E. Literature and Litterateur of Jharkhand / झारखंड का साहित्य और साहित्यकार | FREE GS2 Book Notes sample

Literature and Litterateur of Jharkhand

GS2 Jharkhand Literature

Jharkhand literature is classified into 3 types on the basis of family languages.

  • Literature related to Arya language family 
  • Literature related to Austric language family 
  • Literature related to Dravidian language family  

1. Literature Related to Arya Language Family 

1.1 Nagpuri Literature

Origin of Nagpuri literature

Scholars have different views on th………….

 

झारखंड का साहित्य और साहित्यकार

GS2 Jharkhand Literature

भाषा के आधार पर झारखंड में तीन मुख्य परिवार है.

  • आर्य भाषा परिवार से संबंधित साहित्य
  • आस्ट्रिक भाषा परिवार से संबंधित साहित्य
  • द्रविड़ भाषा परिवार से संबंधित साहित्य

1. आर्य  परिवार से संबंधित साहित्य

1.a नागपुरी साहित्य

नागपुरी साहित्य का उद्भव

नागपुरी साहित्य के उद्भव से संबंधित विषय पर विद्वानों के अलग-अलग मत रहे हैं.

  • सर जॉर्ज अब्राहम ग्रियर्सन ने लिंग्विस्टिक सर्वे ऑव इंडिया में  नागपुरी को भोजपुरी की एक  उप बोली कहा है.
  • प्रोफेसर के. केसरी कुमार सिंह ने अपने आलेख “नागपुरी भाषा एवं साहित्य” में मगही और ………………

नागपुरी साहित्य की विशेषता

  • नागपुरी साहित्य के अंतर्गत लोक गीत, लोक कथा पहेली आदि पाए जाते हैं।
  • नागपुरी  लोक कथाओं की तुलना वेदों के आख्यान, जातक कथाएं, कथासरित्सागर, बेताल पच्चीसी, पंचतंत्र  आदि कथाओं से मिलती-जुलती है.
  • नागपुरी साहित्य में गीत कविता कहानी उपन्यास नाटक निबंध संस्करण आदि का समावेश भी है.
  • **नागपुरी साहित्य के प्रथम कवि रघुनाथ  नृपति है.
  • नागपुरी कवियों में हनुमान सिंह,……………….

नागपुरी गद्य साहित्य का विकास कब का माना जाता है?

1900 इसवी के आस-पास  नागपुरी गद्य साहित्य का विकास माना जाता है. 

**E.H.Whitley के द्वारा 1896 में लिखें प्रथम व्याकरण ……………….